Krichan sex video committed dating relationship still

यह फिरका उन्नीसवीं सदी के एक आदमी मिर्ज़ा गुलाम अहमद कादियानी ने चलाया था जिसने आम मुसलमानों की मुखालफत (विरोध) करते हुए खुद को मसीहा कहा था और साथ ही यह भी दावा किया कि उस पर भी अल्लाह के इल्हाम उतरते हैं जैसे मुहम्मद (सल्लo) पर उतरा करते थे.

तो इस तरह कादियानी मुहम्मद (सल्लo) को आखिरी पैगम्बर नहीं मानते.

इसके लिए उन्होंने न जाने कुरान, हदीस, सीरत, वेद, पुराण, उपनिषद्, भगवद गीता, मनुस्मृति, महाभारत, तौरेत, बाईबल, धम्म पद, गुरुग्रंथ साहिब, और न जाने क्या कुछ न सिर्फ पढ़ डाला है बल्कि याद भी कर लिया है.

Krichan sex video-37Krichan sex video-45Krichan sex video-56

लफ्ज़ दर लफ्ज़ (शब्दशः) किसी की किताब से बिना पूछे चोरी करना और उसका शुक्रिया अदा करना तो दूर, उसका नाम भी नहीं लेना. एक कादियानी (काफिर) की बातों को मुसलमानों के बीच इस्लाम कह कर पेश करना यानी मुसलमानों को धोखा देना. और इस सारे काम की वाहवाही खुद लूटना जबकि यह किसी और का काम था और खुद को मजहबी मामलों का आलिम कहकर मुसलमानों को गुमराह करना. अपने चाहने वालों को कादियानियों के सामने जलील होने की वजह बनना. वेदों में मुहम्मद का दावा होने पर भी वेदों को इल्हामी ना मानना. बड़ी चालाकी से कादियानी सिद्धान्तों को मुसलमानों में चुप चाप बढ़ावा देना ताकि किसी को कोई शक न हो.इन सब बातों से इस बात का शक होता है कि कहीं जाकिर भाई मुसलमान के भेष में कादियानी तो नहीं?

क्योंकि कादियानियों को ऊपर से गलत कहकर सीधे साधे मुसलमानों की भीड़ जुटाकर जाकिर भाई जब कादियानी किताबों की खासमखास बातों को ही फैलाने में लगे हैं तो इसका और क्या मतलब निकलता है?

डॉ जाकिर नाइक हजारों की भीड़ में इस्लाम और बाकी मजाहिब (धर्मों) पर अक्सर बोलते देखे जाते हैं.

वे खुद इस बात को बड़े फख्र से पेश करते हैं कि वो इस्लाम और बाकी मजहबों के तालिब इ इल्म (विद्यार्थी) हैं.

इस का नाम था “Muhammad in World scriptures” मतलब “दुनियावी किताबों में मुहम्मद” मतलब (विश्व की पुस्तकों में मुहम्मद).

इसके लिखने वाले जनाब मौलाना अब्दुल हक विद्यार्थी हैं, जिन्होंने इसे १९३६ में लिखा था. हमें झटका सा लगा.जाकिर भाई के सारे दावे लफ्ज़ दर लफ्ज़ (शब्दशः) इस किताब में मिलने लगे.

जिस किसी को भी जाकिर भाई के इस फरेब को अपनी आँखों से देखना है वो इस लिंक पर जाए.

जाकिर नाइक के इन मसलों पर लेख आप यहाँ पढ़ सकते हैं ताकि ऊपर दिए लिंक से मिला कर देख सकें. option=com_content&view=article&id=145&Itemid=128कादियानियों के बारे में जानने के लिए आप यहाँ जा सकते हैं.

इसलिए एक सीधे साधे मुसलमान के साथ इससे बड़ा फरेब और कोई हो ही नहीं सकता.

Tags: , ,